Chak Bihar Software क्या है? जानिए पूरी जानकारी यहाँ।

सर्वे का काम पूरा होते ही शुरू होगी चकबंदी, ‘चक बिहार’ सॉफ्टवेयर हो रहा विकसित

चक बिहार सॉफ्टवेयर (Chak Bihar Software): दोस्तों क्या आपको पता है चकबंदी क्या होता है? और फिर “चक बिहार सॉफ्टवेयर” क्या है? जिसे बनाने की जिम्मा बिहार सरकार ने IIT Rooraki को दिया है. अगर आपको नहीं पता तो ये ब्लॉग पोस्ट को ध्यान से पूरा पढ़िए, क्योकि आज इस ब्लॉग पोस्ट में हम आपको बताएँगे की Chak Bihar Software Kya Hai?

चकबंदी क्या होता है? (What is Chakbandi)

Chak Bihar Software

चकबंदी वह विधि है जिसके द्वारा व्यक्तिगत खेती को टुकड़ों में विभक्त होने से रोका एवं संचयित किया जाता है तथा किसी ग्राम की समस्त भूमि को और कृषकों के बिखरे हुए भूमिखंडों को एक पृथक्‌ क्षेत्र में पुनर्नियोजित किया जाता है।

भारत में जहाँ प्रत्येक व्यक्तिगत भूमि (खेती) वैसे ही न्यूनतम है, वहाँ कभी कभी खेत इतने छोटे हो जाते हैं कि कार्यक्षम खेती करने में भी बाधा पड़ती है। चकबंदी द्वारा चकों का विस्तार होता है, जिससे कृषक के लिये कृषिविधियाँ सरल हो जाती हैं और पारिश्रमिक तथा समय की बचत के साथ साथ चक की निगरानी करने में भी सरलता हो जाती है।

इसके द्वारा उस भूमि की भी बचत हो जाती है जो बिखरे हुए खेतों की मेड़ों से घिर जाती है। अंततोगत्वा, यह अवसर भी प्राप्त होता है कि गाँव के वासस्थानों, सड़कों एवं मार्गों की योजना बनाकर सुधार किया जा सके।]] चकबंदी के अंतर्गत किसान की जोतों को एक स्थान में एकत्रित किया जाता है।

Chakbandi in Bihar 2021

बिहार में आइआइटी के साॅफ्टवेयर से होगी चकबंदी, कैमूर जिले के गांव से पायलट प्रोजेक्‍ट की शुरुआत दैनिक जागरण की एक रिपोर्ट की मानें तो तो बिहार में चकबंदी की सुरुवात कैमूर जिलें से होगी और इसके लिए IIT Rooraki से लगभग 200 लोगों की टीम बिहार आएगी और तब Chak Bihar Software का काम शुरू किया जायेगा।

आपको बता दें, की बिहार में चकबंदी पहली बार नहीं हो रहा है. इससे पहले भी होता आया है, जहाँ चकबंदी का पूरा काम उस एरिया के अमीन द्वारा किया जाता था. लेकिन जैसा की आपको पता है की आजकल लगभग सभी कार्य मशीन यानि Artificial Intelligence द्वारा किया जा रहा है.

चक बिहार सॉफ्टवेयर क्या है? (Chak Bihar Software)

चक बिहार सॉफ्टवेयर IIT Rooraki द्वारा बिहार के लिए बनाया जाने वाला एक ऐसा सॉफ्टवेयर है, जिसकी मदद से बिहार में चकबंदी का कार्य एकदम सरल हो जायेगा। और अभी अमीन का लगभग 80% कार्य ये चक बिहार सॉफ्टवेयर ही करेगा।

Leave a Comment